Generations Of Computer In Hindi | Computer Generations हिंदी में

Generations Of Computer In Hindi | Computer Generationsकंप्यूटर के जनरेशन


Technology की दुनिया में हर समय, हर पल कुछ न कुछ बदल रहा होता है। Computer भी समय से समय बदलता गया और नइ नइ technology आती गयीं। Computer के हर generation के साथ कुछ न कुछ नइ तकनीकें देखने को मिलती हैं। हम ये कह सकते हैं कि हर एक नया generation अपने पुराने वाले generation से अच्छा होता है। जो आज हम कंप्यूटर स्तेमाल करते हैं वो कई सारे generations से गुज़रता आया है और आज बहुत ही ज्यादा advance हो चुका है।



Generations Of Computer In Hindi | 
Computer Generations


चलिए जानते हैं computer के अलग अलग generations के बारे में।


1) पहला जनरेशन कंप्यूटर (First Generation Computer)


1) First generation computer का period 1940 से 1956 तक था।

2) First generation computer वैक्यूम ट्यूब (vacuum tube) और थेर्मियोनिक वाल्व मशीन (thermionic valve machine) के स्तेमाल से develop किया गया था।

3) First generation computer को input 'Punched card' और 'Paper tape' के मदद से दिया जाता था और output printout के माध्यम से लिया जाता था।

4) First generation computer बाइनरी कोड पर काम करते थे। बाइनरी लैंग्वेज 0 और 1 होता है। उदाहरण - ENIAC, EDVAC.


2) दूसरा जनरेशन कंप्यूटर (Second Generation Computer)


1) Second generation computer का period 1956 से 1963 तक था।

2) Second generation computer ट्रांजिस्टर (transistor) technology से बना था।

3) Second generation computer का size first generation computer के मुकाबले छोटा था।

4) Second generation computer का calculation का समय भी कम हो गया था first generation computer के मुकाबले।


3) तीसरा जनरेशन कंप्यूटर (Third Generation Computer)


1) Third generation computer का period 1963 से 1971 तक था।

2) Third generation computer को इंटीग्रेटेड सर्किट (integrated circuit IC) तकनीक का उपयोग करके develop किया गया था।

3) Second generation के computer के तुलना में third generation computer का आकार छोटा था।

4) Second generation के computer के तुलना में third generation computer द्वारा लिया जाने वाला कंप्यूटिंग समय कम था।

5) Third generation computer ने कम बिजली की खपत की और कम गर्मी भी उत्पन्न की।

6) Third generation में computer की रखरखाव लागत (maintenance cost) भी कम थी।


4) चौथा जनरेशन कंप्यूटर (Fourth Generation Computer)


1) Fourth generation computer का period 1972 से 2010 तक था।

2) माइक्रोप्रोसेसर टेक्नोलॉजी का स्तेमाल करके fourth generation के computer डेवेलोप (develop) किए गए थे।

3) Fourth generation में आने तक computer आकार में बहुत छोटा हो गया था, यह portable हो गया था यानि एक जगह से दुसरे जगह आसानी से लेजाया जा सकता था।

4) Fourth generation के machine ने बहुत कम मात्रा में गर्मी पैदा किया। 

5) यह अब बहुत ही तेज हो चुका था और इसके परिणाम भी ठीक आते थे जिसपर भरोसा किया जा सकता था। 

6) पिछले generation के तुलना में उत्पादन लागत (production cost) बहुत कम हो गया था। 

7) यह आम लोगों के लिए भी उपलब्ध हो गया।


5) पांचवा जनरेशन कंप्यूटर (Fifth Generation Computer)


1) 2010 से आज तक और उससे आगे का समय, fifth generation के computer का समय मना जाता है।

2) उस समय तक, computer generation को केवल hardware के आधार पर अलग किया जाता था, लेकिन fifth generation के तकनीक में software भी शामिल है।

3) Fifth generation के computers में उच्च क्षमता और बड़ी मेमोरी क्षमता है। अब computer के पास ज्यादा storage छमता हो चूका है।

4) Fifth generation computers के साथ काम करना बहुत तेज है और एक साथ कई कार्य किए जा सकते हैं।

5) Fifth generation के कुछ लोकप्रिय advance technology में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (artificial intelligence), नैनो टेक्नोलॉजी (nanotechnology), पैरेलल प्रोसेसिंग (parallel processing) आदि शामिल हैं।


Related Blogs | आपको ये भी जानने की जरूरत है :-

5 Best Android Emulators For Windows | जानिए कौनसे हैं वो एमुलेटर

How To Install Games From Browser | बड़े गेमों को ब्राउज़र से कैसे इनस्टॉल करें ?

Previous
Next Post »