Hardware and Software of Computer in Hindi

Hardware and Software of Computer in Hindi

आप जब कभी computer के बारे में पढ़ते होंगे तो दो चीजें आपके सामने जरूर आते होंगे जोकि hardware और sorftware के नाम से जाने जाते हैं। इनदिनों चीजों के बारे में आपको जरूर मालूम होनी चाहिए तो आप आगे पढ़ते रहिये ये article और मैं आपको detail में बताने वाला हूं hardware and software के बारे में hindi में।


Computer Hardware:


Computer के physical components को ही computer hardware कहते हैं। कोई भी कंप्यूटर के part जिन्हें हम छू सकते हैं वह कंप्यूटर hardware होते हैं। यह छोटे-छोटे electronic devices होते हैं जो एक दूसरे से connected होते हैं और साथ मिलकर एक कंप्यूटर बनाते हैं। Hardware के कुछ examples हैं जैसे keyboard, mouse, hard disk, SSD, CPU, processor, monitor, printer आदि।


Keyboard, mouse जैसे कंप्यूटर hardware का इस्तेमाल करके हम कंप्यूटर को input देते हैं और monitor, printer जैसे कंप्यूटर hardware का इस्तेमाल करके हम कंप्यूटर से output लेते हैं। अगर monitor touch screen हो तो यह input और output दोनों काम कर सकता है।




Computer Software


Software एक collection होता है instructions का जो कि अलग-अलग task perform करता है हमारे computer system में। दूसरी तरह से हम यह कह सकते हैं कि कंप्यूटर software programming code होता है जो हमारे input देने पर computer system के background में run होता है और screen पर हमें result देता है। Software के कुछ examples हैं जैसे MS Word, MS Excel, MS PowerPoint, Browsers, Emulators, Plugins आदि।


कंप्यूटर software भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना एक कंप्यूटर hardware है। अगर software ना हो तो हमारा कंप्यूटर एक डब्बे के सामान रह जाएगा जिसका कोई मतलब नहीं रहेगा।


Software दो प्रकार के होते हैं:

  1. System software
  2. Application software

System software in Hindi


System software एक तरह का computer program होता है जिसे design किया गया है कंप्यूटर के hardware को चलाने और application programs को run करने के लिए। System software directly कंप्यूटर के hardware devices के अंदर काम करता है। यह एक platform बनता है जहां पर अन्य applications run कर सकें।


उदाहरण/example for system software - हमारे कंप्यूटर का operating system (OS) जैसे Windows, Linux, Unix ही system software होता है। Operating system ही कंप्यूटर के दूसरे programs को manage करता है।


System software के अन्य examples:


BIOS (Basic Input/Output System) - जब आप कंप्यूटर को ON करते हैं तब BIOS ही आपके computer system को start करता है और hard disk, keyboard, mouse, printer जैसे जुड़े हुए hardware के data के आदान प्रदान को manage करता है।


Boot - Boot program ही आपके operating system को कंप्यूटर के main memory और random access memory (RAM) में load करता है।


Assembler - Assembler basic computer instructions को लेता है और उन्हें convert कर देता है bits के pattern में जिसे कंप्यूटर processor इस्तेमाल करके अपने basic operations को perform करता है।


Device driver - Device driver किसी एक hardware को control करता है जो आपके कंप्यूटर से जुड़ा हो जैसे mouse या keyboard।


System software के other examples के बारे में English में जाननें के लिए whatis.com को आप visit कर सकते हैं। अपने ज्ञान को साझा करने के लिए Margaret Rouse का धन्यवाद।



Application software in Hindi


Application software एक प्रकार का कंप्यूटर program होता है जो एक विशिष्ट/specific personal, educational और business function को perform करता है। प्रत्येक program को एक विशेष process के साथ users की सहायता के लिए design किया गया है जो productivity, creativity और/या फिर communication से संबंधित हो सकता है।


उदाहरण/application software examples:


  • Microsoft softwares - MS Word, PowerPoint, Excel, Outlook आदि।
  • Internet browsers - Chrome, Firefox आदि।
  • Emulators - Bluestacks, Gameloop, Nox आदि।



Difference between hardware and software


1) Hardware हमारे कंप्यूटर का physical part होता है जोकि वास्तव में exist/ मौजूद होता है जबकि software एक collection होता है instructions का जो कंप्यूटर को बताता है कि उसे करना क्या है।


2) सारे hardwares को एक software की जरूरत होती है लेकिन एक software को सारे hardwares की जरूरत नहीं होती।


3) Hardware software के बिना कोई task perform नहीं कर सकता और Software hardware के बिना execute नहीं हो सकता।


4) Hardware को manufacture किया जाता है जबकि software को develop और engineer किया जाता है।


5) Hardware physical electronic device होता है जिसे हम देख और छू भी सकते हैं जबकि software physically exist नहीं करता है जिसे हम देख तो सकते हैं लेकिन छू नहीं सकते।


6) Hardware कंप्यूटर virus से प्रभावित नही होता है जबकि software बड़े आसानी से कंप्यूटर virus से प्रभावित हो सकता है।


7) Hardware को internet के मदद से एक जगह से दूसरे जगह नहीं ले जाया जा सकता है जबकि software को internet के मदद से एक जगह से दूसरे जगह आसानी से ले जाया जा सकता है।


8) Hardware का backup नहीं बनाया जा सकता जबकि software का backup बनाया जा सकता है।


9) Hardware के कुछ examples हैं - Monitor, Keyboard, Mouse, Printer, CPU, Hard disk SSD, RAM, ROM, Motherboard आदि।

Software के कुछ examples हैं - Microsoft Word, Microsoft Access, Microsoft Excel, Microsoft OneNote, Microsoft Outlook, Microsoft Power BI, Microsoft PowerPoint, Microsoft Project, Microsoft Publisher आदि।



Hardware और Software के बारे में कुछ extra information और examples


हर एक software को कम से कम एक hardware चाहिए operate करने के लिए जैसे एक computer game जो कि एक software है और ये कंप्यूटर के CPU, RAM, Hard disk, Motherboard, Video card जैसे hardwares को इस्तेमाल करता है run करने के लिए।


Computer game जैसा software एक साथ कई hardwares को इस्तेमाल करता है और अगर इनमें से कोई एक hardware ना मौजूद हो तो यह software (Game) चल ही नहीं सकता।


Hardware का बहुत महत्व है क्योंकि hardware वह चीज़ होता है जो एक computer को computer बनाता है। कंप्यूटर का processor information को process करता है जो कि हमारे hard disk या फिर SSD में स्टोर होता है और जब कोई user एक software के माध्यम से इस information को access करने के लिए request भेजता है तो यह software कंप्यूटर के एक hardware RAM में load होता है और वह चीज monitor पर दिखाई देता है।


एक sound card की जरूरत होती है speakers को sound देने के लिए और एक video card की जरूरत होती है image को monitor पर दिखाने के लिए। यह सारे hardware के examples हैं।


क्या एक कंप्यूटर बिना software के चल सकता है? - Can a computer run without software?


एक कंप्यूटर बिना application software के चल सकता है लेकिन बिना system software के नहीं चल सकता क्योंकि system software यानी operating system (OS) कंप्यूटर का soul होता है। कंप्यूटर को एक operating system की जरूरत होती है जो user और software को कंप्यूटर hardware से interact करने के लिए अनुमति देता है।


क्या एक कंप्यूटर बिना hardware के चल सकता है? - Can a computer run without hardware?


आसान शब्दों में कहूं तो नहीं चल सकता है। कंप्यूटर में operating system डालने के लिए आपके पास एक Pendrive, CD या फिर Hard disk होनी जरूरी है जिसमें आप OS रखें होंगे, जोकि एक hardware है। जब आप कंप्यूटर में operating system install करेंगे तो वह कंप्यूटर के Hard disk या फिर SSD में install होगा जो सारे hardwares हैं।


Operating system के चालू होने पर RAM, Processor और अन्य hardwares भी चालू होंगे जो सारे hardwares हैं। Output लेने के लिए आपको एक Monitor की जरूरत पड़ेगी और monitor पर कोई भी information display होने के लिए आपके computer को एक video card की जरूरत पड़ेगी जो सारे hardwares हैं।


कंप्यूटर system को input देने के लिए Keyboard, Mouse जैसे components का use होगा जो सारे hardwares हैं। कंप्यूटर system से output Monitor के अलावा Printer या फिर Speaker से भी sound के form में ले सकते हैं जो सारे hardwares हैं। Speaker में sound देने के लिए sound card की जरूरत पड़ेगी जो कि एक hardware है।


Conclusion/निष्कर्ष


तो इससे हमें यह पता चलता है कि कंप्यूटर के लिए hardware और software दोनों ही बहुत जरूरी हैं। Software के बिना hardware नहीं चल सकता और hardware के बिना software का कोई अहमियत नहीं है। तो एक computer system बनने में hardware और software दोनों की मौजूदगी बहुत महत्वपूर्ण है।


तो दोस्तों यह था hardware and software of computer in Hindi का पूरा article। अगर आपको लगता है कि हमें इस article में कुछ और add या फिर correction करना चाहिए तो आप comment के माध्यम से हमें बता सकते हैं।


Computer वाले पोस्ट पर वापस जाएं - Computer क्या है? Definition, Full Form, Uses, Generations - detail में।

Previous
Next Post »